आखिर क्यों होता है फोन में धमाका?

फोन आज कल हर किसी के हाथ में दिखता है, लेकिन ये स्मार्टफोन जितना फायदेमंद है उतना ही नुकसान भी पहुंचाता है। क्योंकि फोन कि फटने कि धटना आए दिन सुनने में आ रही है। फोन अकसर चार्जिंग के वक्त ही फटता हैं। ऐसे में आज हम आप को बताते है कि आखिर किन परिस्थितियों में स्मार्टफोन फटता हैं और कैसे आप अपने फोन को फटने से बचा सकते हैं।

फोन में विस्फोट कि वजह जानने के लिए हमारे इस यूट्यूब एनिमेटेड वीडियो को भी जरुर देखें।

जानकारों की मानें तो स्मार्टफोन में लगने वाली लिथियम बैटरी उसके फटने की अब तक सबसे बड़ी वजह है। दरअसल लीथियम बैटरी ओवर हीट होने पर ब्लास्ट कर जाती है। वहीं फोन के चार्जिंग सर्किट और इनपुट पावर में खराबी आने पर भी इनमें धमाका होता है।

एप्पल और गूगल के फोन ऊंचाई से गिरने की वजह से कई बार फोन के गिरने की वजह से बैटरी इलेक्ट्रोड को अलग करने वाली परत काफी कमजोर हो जाती है। ऐसे में फोन में शॉर्ट सर्किट का खतरा बन जाता है। इस स्थिति में जब फोन को चार्जिंग के लिए लगाया जाता है उसमें धमाका हो जाता है।

गलत चार्जर और बैट्री की वजह से कई बार हम एक फोन को दूसरे फोन के चार्जर से चार्ज करने लगते है। आपको बता दें कि ऐसा करना गलत है। दरअसल दूसरे चार्जर से फोन जार्ज करने पर बैटरी ज्यादा गर्म हो जाती है , जिसकी वजह से फोन के प्रोटेक्शन सर्किट डैमेज होने के चासेंज बढ़ जाते है। लगातार चार्ज करने से जानकारों की माने तो जब हम बैटरी चार्ज करते हैं तो ये रबर बैंड की तरह खींचती है और जब आप इसे यूज करते हैं यह रीलीज होती है। अगर आप अपने फोन को लगातार चार्ज करते रहते हैं तो इससे बैटरी की एनर्जी खत्म होता है और बैटरी का नुकसान होता है।

कैसे बचाएं अपने फोन को?
अगर आप अपने फोन को फटने से बचाना चाहते हैं तो स्मार्टफोन को लगातार चार्ज नहीं करना चाहिए।

अपने फोन को उसी के चार्जर से चार्ज करना सही होता है।

फोन की बैटरी ओरिजनल ही लगानी चाहिए और उसे हमेशा सर्विस सेंटर से ही खरीदना चाहिए।

फोन को चार्ज करते वक्त कभी भी गर्म स्थान पर नहीं रखना चाहिए।

फोन पर वजन रखने से बचना चाहिए। रातभर फोन चार्ज में रखना खतरनाक है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed